ताजा खबरें

UP में डॉक्टर के मर्डर की दर्दनाक कहानी

यूपी के सुल्तानपुर में एक नया मामला सामने आया है जिसमे जमीन के विवाद में एक डॉक्टर की दबंगों ने पीट-पीटकर हत्या कर दी. बताया जा रहा है कि पैसों की जबरन वसूली को लेकर लैंड माफिया ने उनकी हत्या कराई है. 2 बिस्वा जमीन के लिए 50 लाख में डील होने के बाद भी डॉक्टर को उसका कब्जा नहीं दिया जा रहा था.

यूपी के सुल्तानपुर में रविवार को जमीन विवाद को लेकर दबंगों ने एक डॉक्टर की पीट-पीटकर हत्या कर दी. . पोस्टमार्टम होने होने के बाद मृतक डॉक्टर घनश्याम तिवारी का शव उनके पैतृक गांव लंभुआ सखौली कला पहुंचाया जहां परिवार वालो और ग्रामीण  काफी आक्रोशित नजर आए. परिवार वालो ने आरोप लगाया कि भूमाफियाओं ने जमीन विवाद को लेकर पैसों की लेन-देन में उनकी हत्या कर दी

हत्या के बाद क्या बोले डीएम और एसपी?

जिले के एसपी और डीएम ने संयुक्त प्रेस कान्फ्रेंस की और इस हत्याकांड की जानकारी दी. जिलाधिकारी जसजीत कौर ने कहा कि डॉक्टर की हत्या के आरोपी और रिश्तेदारों सहित जाननेवालों की संपत्तियों का ब्यौरा लिया जा रहा है और भूमाफियाओं की लिस्टिंग भी निकली जा रही है. अधिकारियों ने कहा कि इस मामले में दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगीऔर कड़ी से कड़ी सजा मिलेगी . एसपी सोमेन बर्मा ने कहा कि हत्या के आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए टीमों का गठन कर दिया गया है और जल्द ही आरोपियों को पकड़कर जेल भेजा जाएगा.बता दे की हत्या का आरोप बीजेपी के एक वरिष्ठ नेता के भतीजे पर लगा है. पुलिस के मुताबिक, लंभुआ इलाके में रहने वाले डॉ. घनश्याम तिवारी जयसिंहपुर स्थित जासपारा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में तैनात थे. वर्तमान में शास्त्री नगर मोहल्ले में रहते थे. शनिवार शाम वो घर से किसी कार्य के लिए बाहर गए थे. देर शाम उनकी पत्नी घर के बाहर खड़ी थी. इसी दौरान एक ऑटो वाला घर पहुंचा और घनश्याम को घायल अवस्था में घर के सामने छोड़ कर भाग गया.

आखिर क्या थी हत्या की वजह?

डॉ घनश्याम त्रिपाठी की पत्नी निशा के अनुसार, उनके पति ने शहर के शास्त्रीनगर में सरस्वती विद्या मंदिर के पीछे दो बिस्वा जमीन अजय नारायण सिंह नाम के शख्स से 25 लाख रुपये प्रति बिस्वा की कीमत पर खरीदी थी.  50 लाख रुपये उन्हें दे दिया था. इसके बाद भी मेरे पति को कब्जा नहीं दिया जा रहा था इसके बाद  उन्होंने एक लाख रुपये और दिए. निशा ने बताया कि इसके बाद भी जमीन के लिए पैसों की मांग की जा रही थी जिसके बाद विवाद होने पर मेरे पति को मार डाला गया
वहीं इस सनसनीखेज हत्या को लेकर समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने यूपी सरकार और कानून-व्यवस्था पर सवाल उठाए थे. पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव मृतक डॉक्टर घनश्याम तिवारी के परिजनों से भी मुलाकात कर सकते हैं. 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button