ताजा खबरेंमनोरंजनराजनीति

वेब सीरीज तांडव पर छिड़ा सियासी महाभारत लखनऊ में FIR दर्ज

वेब सीरीज तांडव लखनऊ में FIR दर्ज

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ समेत देश के कई अन्य हिस्सों में उठ रही सीरीज बैन की मांग.

भाजपा व बसपा सहित कई अन्य राजनितिक व धार्मिक संगठनों ने जताई आपत्ति.

अली अब्बास जफ़र निर्देशित वेब सीरीज “तांडव” रिलीज़ के बाद से ही लगातार विवादों से घिरी हुई है. सीरीज पर हिन्दू धार्मिक भावनाओ पर आघात करने के आरोप में महाराष्ट्र तथा उत्तर प्रदेश समेत देश के अन्य हिस्सों में रिपोर्ट भी दर्ज हुई है. बताते चले की सीरीज के एक द्रश्य में हिन्दू भगवान शंकर जी को आधुनिक वेशभूषा में कुछ आपत्तिजनक वार्तालाप करते हुए दिखाया गया है.

सैफ़ अली खान, ज़ीशान अयूब, सुनील ग्रोवर, व डिंपल कपाडिया जैसे बड़े नामो से सजी वेब सीरीज “तांडव” पर विवाद लगातार तूल पकड़ता जा रहा है. तमाम आपत्तियों व विवादों के चलते अमेज़न प्राइम विडियो के अधिकारियो को सूचना व प्रशारण मंत्रालय के द्वारा तलब भी किआ जा चुका है.

विवाद क्या है?

बता दे, पूरे विवाद का कारण वेब सीरीज के पहले एपिसोड में दिखाया गया एक सीन है. जिसमे अभिनेता जीशान अयूब भगवान शिव के आधुनिक किरदार को पेश करते नजर आ रहे है. जहाँ पर एक शख्स के द्वारा ट्विटर पर भगवान श्री राम की बढती लोकप्रियता को लेकर प्रश्न किये जाने पर वे कुछ आपत्तिजनक व निम्नस्तरीय जवाब देते है, जो कि विवाद का मुख्य कारण है. इसके आलावा लोग सीरीज में दिखायी गयी वी. इन. यू. यूनिवर्सिटी के छात्रों द्वारा आज़ादी आज़ादी के नारों पर भी सवाल खड़े कर रहे है. 

क्या है राजनितिक हलचल?

वही, विवाद की गंभीरता को देखते हुए सीरीज के निर्माताओ ने सोमवार को बिना शर्त माफ़ी भी मांगी थी, तथा अपनी प्रस्तुति से किसी भी धर्म या जाति की आस्था को आहत न करने जैसी बाते भी कही थी.

हलाकि, विवाद की बढती लोकप्रियता को देखते हुए अब मुद्दे पर राजनीती भी गर्माने लगी है. कई नेता अपनी अपनी पार्टी व जनाधार के अनुसार मुद्दे का राजनीतिकरण करने में लग गए है, तथा ट्विटर पर ट्विट-वार भी अब उफान पर है.

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री व भाजपा नेता योगी आदित्यनाथ ने वेब सीरीज “तांडव” पर नाराजगी जताते हुए हिन्दू देवी- देवताओ का अपमान करने वालो के खिलाफ सख्ती से निपटने के निर्देश दिए है. मुख्यमंत्री के सख्त निर्देशों को देखते हुए लखनऊ पुलिस ने सीरीज के निर्माता, निर्देशक और लेखक के साथ-साथ अमेज़न प्राइम विडियो के संचालक पर भी सिकंजा कस दिया है.

वही, बसपा सुप्रीमो मायावती ने भी वेब सीरीज से आपत्तिजनक द्रश्यो के हटाये जाने की मांग की है. उन्होंने ट्विट कर कहा, ‘वेब सीरीज तांडव में धार्मिक और जातीय भावना को आहत करने वाले कुछ द्रश्यो को लेकर विरोध दर्ज किये जा रहे है, जिसके सम्बन्ध में जो भी आपत्तिजनक है उन्हें हटा दिया जाना उचित होगा ताकि देश में कही भी शांति, सौहार्द और आपसी भाईचारे का वातावरण ख़राब न हो.’

इसके साथ ही उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने गोंडा में एक कार्यक्रम के दौरान “तांडव” का हवाला देते भाजपा सरकार पर निशाना साधा था, उन्होंने वेब सीरीज पर बोलते हुए कहा कि किसानो, नौजवानों का जवाब न देना पड़े इसलिए बीजेपी सरकार तांडव कर रही है. 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button